IPL-2020: व्हाट्सएप ग्रुप के द्वारा की जा रही खिलाड़ियों की शंका दूर

IPL-2020 के 13वें सीजन को लेकर क्रिकेटरों की शंका दूर करने और फ्रेंचाइजी तथा उनके क्रिकेटरों के बीच कम्यूनिकेशन बनाए रखने के लिए फ्रेंचाइजी टीमों ने व्हाट्सऐप ग्रुप बनाए गए हैं. आईपीएल की शुरुआत 29 मार्च से होनी थी किंतु कोरोनावायरस के चलते हुए आईपीएल को 15 अप्रैल तक स्थगित कर दिया गया है. मौजूदा परिस्थिति को देखते हुए बीसीसीआई और आठों फ्रेंचाइजी टीम कोई फैसला नहीं ले पा रही हैं.

IPL-2020: व्हाट्सएप ग्रुप
IPL-2020

खिलाड़ी मौजूदा परिस्थिति को देखते हुए जवाब चाहते हैं. तथा लॉक डाउन होने की वजह से खिलाड़ियों से फ्रेंचाइजी टीम फेस टू फेस नहीं हो पा रहे हैं. लगातार मीडिया में अलग-अलग खबरें आ रही हैं, इसलिए मैनेजमेंट को लगा कि इसका एक तरीका है कि फ्रेंचाइजी टीम के अधिकारियों और खिलाड़ियों का एक व्हाट्सऐप ग्रुप बनाया जाए, जिस पर आईपीएल को लेकर तमाम चर्चाएं हो सकें इसलिए व्हाट्सएप ग्रुप का निर्णय फ्रेंचाइजी द्वारा लिया गया है.

IPL-2020: व्हाट्सएप ग्रुप से होगी खिलाड़ियों के पास में सही जानकारी

IPL-2020: व्हाट्सएप ग्रुप होने से खिलाड़ियों को सही जानकारी मिलती रहेगी क्योंकि बाहर के लोगों की सुनकर और आधी अधूरी जानकारी रखकर खिलाड़ियों का हौसला कम होता है. बीसीसीआई (BCCI) आईपीएल (IPL) के लिए अक्टूबर-नवंबर के शेड्यूल के बारे में भी सोच रहा है. लेकिन यह तभी मुमकिन है जब आईसीसी टी-20 वर्ल्ड कप स्थगित हो. However आईसीसी टी-20 वर्ल्ड कप को लेकर अभी तक कोई फैसला नहीं लिया जा सका है.

राजस्थान रॉयल के सीईओ का सुझाव किस प्रकार खेला जा सकता है IPL-2020

राजस्थान रॉयल्स (Rajasthan Royals) के सीईओ रंजीत बरठाकुर का कहना है कि इस मुश्किल समय में आईपीएल (IPL) नहीं करवाने के बजाय ( (Instead of not having) केवल भारतीय खिलाड़ियों के साथ छोटी अवधि का IPL टूर्नामेंट आयोजित कराना बेहतर होगा. Because अब भारत में अच्छे और पर्याप्त खिलाड़ी हैं पहले हम केवल भारतीय खिलाड़ियों के साथ आईपीएल के बारे में नहीं सोच सकते थे क्योंकि हमारे पास में उतने अच्छे खिलाड़ी नहीं होते थे. ” उन्होंने कहा, ‘‘टूर्नामेंट का आयोजन कब हो सकता है, इसका फैसला बीसीसीआई को करना है और मेरा मानना है कि ऐसा फैसला 15 अप्रैल के बाद ही किया जाना चाहिए.

” (because of coronavirus all over world) कोरोना वायरस के कारण विश्व भर में 850,000 लोग संक्रमित हैं जबकि 42000 से अधिक लोगों की मौत हो चुकी है. भारत में 1600 से अधिक लोग संक्रमित हैं और 40 से अधिक की मौत हुई है.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *